Google search engine

सिलक्यारा सुरंग में राहत बचाव करने वाले श्रमिक दल को कांग्रेस विधायक देंगे एक माह का वेतन

.सिल्यारा सुरंग से 41 श्रमिकों को सुरक्षित निकालने वाले रैट माइनिंग के श्रमिकों को सम्मानित करेगी कांग्रेस

देहरादून । प्रदेश कांग्रेस कमेटी कार्यालय देहरादून में आयोजित वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं की संयुक्त पत्रकार वार्ता को सम्बोधित करते हुए प्रदेश कंाग्रेस अध्यक्ष करन माहरा ने कहा कि कांग्रेस पार्टी के शीर्ष नेतृत्व ने सिल्क्यारा सुरंग में 17 दिनों से फंसे 41 श्रमिकों को सुरक्षित निकालने वाले रैट माइनिंग के श्रमिकों को सम्मानित करने का निर्णय लिया है। उसके लिए प्रदेश कांग्रेस कमेटी अपने शीर्ष नेतृत्व का आभार व्यक्त करती है। उन्होेंने कहा कि शीर्ष नेतृत्व के निर्देशों के अनुरूप अपने नेता प्रतिपक्ष सहित सभी सम्मानित विधायकगणों से भी योगदान के रूप में एक माह के वेतन का अनुरोध किया है तथा सभी विधायकगणों ने पार्टी के इस निर्णय का स्वागत करते हुए अपनी सहर्ष स्वीकृति प्रदान की है उसके लिए मैं सभी का आभार प्रकट करता हूॅ तथा सम्मानित विधायकों एवं वरिष्ठ नेतागणों के सहयोग से प्राप्त धनराशि रैट माइनिंग के श्रमिकों को उपहार के रूप मे ंदेने की घोषणा करता हूॅ।
प्रदेश अध्यक्ष करन माहरा ने रैट माइंनिंग के माध्यम से श्रमिकों की जान बचाने का सुझाव देने वाले वरूण अधिकारी का भी धन्यवाद किया जिनकें बहुमूल्य सुझाव से सुरंग में फंसे 41 श्रमिकों की जान बच पाई। उन्होनें यह भी कहा कि भारतीय जनता पार्टी प्रत्येक अवसर पर शहीदों की शहादत का श्रेय लेती आयी है तथा उसने प्रत्येक मौके पर उत्सव मनाने का काम किया है चाहे पुलवामा की आतंकी घटना हो या सिलक्यारा सुरंग की भाजपा ने इन घटनाओं को इंवेन्ट बनाने का काम किया। उन्होनें कहा कि भाजपा सरकारें सिलक्यारा टनल मिशन की सफलता का श्रेय ले रही हैं तो 17 दिन तक 41 मजदूरों के सुरंग में फसें होने की जिम्मेदारी से भी पल्ला नही झाड़ सकती है। उन्होेनें कहा कि रैणीए जोशीमठ एवं सिल्क्यारा की घटनाएं भूगर्भ शास्त्रियों एवं वैज्ञानिकों की राय की अनदेखी करने का नतीजा हैं। यदि सरकार ने रैणी एवं जोशीमठ की घटनाओं से सबक लिया होता तो सिल्क्यारा की आपदा से बचा जा सकता था।
उत्तराखण्ड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि हिमालयी क्षेत्र में भविष्य की सभी परियोजनाओं को रोक कर उन्हें पेशेवर पारिस्थितिकी जांच के अंतर्गत लाना चाहिए। रावत ने सिल्क्यारा सुरंग में फंसे श्रमिकों के जज्बे को सलाम करते हुए कहा कि हमें सुरंग के ढहने से उठे कुछ बड़े सवालों पर विचार करना चाहिए ताकि भविष्य में इस प्रकार के हादसों से बचा जा सके। उन्होंने कहा कि सिल्क्यारा घटना ने हिमालयी पारिस्थितिकी तंत्र की संवेदनशीलता और जटिलता को पूरी स्पष्टता के साथ हमारे सामने ला दिया है। कांग्रेस पार्टी के नेता प्रतिपक्ष सहित सभी सम्मानित विधायको द्वारा अपने एक माह का वेतन इस आपदा की घड़ी में संकट मोचक बनने वाली रैट माइनिंग की टीम को देने की घोषणा पर रावत ने कंाग्रेस के सीएलपी नेता एवं विधायकों का धन्यवाद किया।
नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य ने कहा कि सिल्क्यारा सुरंग हादसे की घटना ने पश्चिमी हिमालयी पारिस्थितिकी तंत्र की नाजुकता और जटिलता को पूरी स्पष्टता के साथ हमारे सामने ला दिया है। सिल्क्यारा घटना से इस क्षेत्र में सिविल निर्माण और अन्य परियोजनाओं की योजना डिजाइन और क्रियान्वयन के मामले में पर्यावरण मूल्यांकन प्रक्रिया की विफलता भी सामने आई है। उन्होंने कहा कि सुरंग परियोजना चारधाम परियोजना का हिस्सा है। निर्माण कार्यो को इस तरह से आवंटित किया गया ताकि पर्यावरणीय प्रभाव मूल्यांकन से पूरी तरह बचा जा सके परन्तु सुरंग पर व्यापक रूप से स्वीकृत सुरक्षा सुविधाए नही होने की रिपोर्ट सामने आ रही थी इसके बावजूद श्रमिकों की जान से खिलवाड़ किया गया। उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड में निर्माणाधीन सभी परियोजनाओं का गहन ऑडिट किया जाना चाहिए।
पूर्व प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल ने कहा कि सिल्क्यारा घटना निर्माणदायी कंपनी की घोर सुरक्षा लापरवाही एवं अनुभवहीनता का नतीजा रहा है परन्तु सरकार घटना के लिए जिम्मेदार निर्माणदायी कम्पनी को बचाने का काम कर रही है। उन्होंने कहा कि ज्ञात होना चाहिए कि चमोली हादसे के लिए जिम्मेदार यही कम्पनी थी जिसमें 15 श्रमिकों को अपनी जान गवानी पड़ी थी। उन्होंने कहा कि हम मुख्यमंत्री पुष्कर धामी से आशा करते हैं कि वे उत्तराखण्डियत का सम्मान करेंगे तथा उस कंपनी के खिलाफ कार्यवाही का साहस करेंगे चाहे उस कंपनी के आका कितने ही बड़े पद पर क्यों न हों। पूर्व विधायक विजयपाल सजवाण ने सभी विधायकों एवं पार्टी नेतृत्व का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि उन्होंने सुरंग में फंसे श्रमिकों की जान बचाने वाले रैट माइनिंग के जांबाजों को सम्मानित करने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि हमने रैणीए वरूणावत जैसी आपदाएं झेली हैं हमें इन घटनाओं से सबक लेना है कि राज्य का विकास हो विनाश नही। पूर्व प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल एवं पूर्व विधायक विजयपाल सजवाण ने पत्रकार वार्ता में यह भी घोषणा की कि रैट माइनिंग श्रमिकों को सम्मानित करने के लिए जितनी धनराशि पार्टी के सम्मानित विधायकगण उपहार के रूप में देंगे उतनी ही धनराशि वे भी अपनी ओर से पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष के माध्यम से प्रदान करेगें। पत्रकार वार्ता में नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्यए पूर्व प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंहए उपनेता प्रतिपक्ष भुवन कापडीए विधायक रवि बहादुरए विधायक फुरकान अहमदए ने जूम के माध्यम से प्रतिभाग किया। पत्रकार वार्ता में प्रदेश प्रवक्ता गरिमा माहरा दसौनीए शीशपाल सिंह बिष्ट एवं सोशल मीडिया सलाहकार अमरजीत सिंह भी उपस्थित थे।

Google search engine

Arjun Bhoomi

अर्जुन भूमि - Call : +91.7017821586 Email : arjunbhoomi2017@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

खत्म हुआ वह लम्बा समय का इंतजार! आखि रकार, कपिल शर्मा और सुनील ग्रोवर का झगड़ा

Sat Dec 2 , 2023
खत्म हुआ वह लम्बा समय का इंतजार! आखि रकार, कपिल शर्मा और सुनील ग्रोवर का झगड़ा नेटफ्लिक्स पर वापसी के साथ खत्म हो गया है। इस झगड़े के बाद छटा दोनोंका फ्लाइट में, लेकिन अब वे एक ही शो में हैं। नेटफ्लिक्स के अपकमिंग शो में, कपिल शर्मा की टीम […]

You May Like

Topics